DELHI METRO: IRCTC, DMRC और CRIS में हुआ समझौता, अब यात्री रेल टिकट के साथ खरीद पाएंगे मेट्रो टिकट, बुकिंग से जुड़े ये जरूरी नियम जान लीजिए

दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) से यात्रा करने वाले लाखों पैसेंजर्स (Passengers) के लिए खुशखबरी है. अब वे 1 नहीं बल्कि 120 दिन पहले तक टिकट खरीद सकते हैं.

भारत सरकार के वन इंडिया-वन टिकट (One India-One Ticket) पहल को बढ़ावा देने के लिए  इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IRCTC), दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) और सेंटर फॉर रेलवे इंफॉर्मेशन सिस्टम्स (CRIS) ने समझौता किया है. इससे दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) क्षेत्र में मेन लाइन रेलवे और मेट्रो यात्रियों के लिए यात्रा का अनुभव और बेहतर होने की उम्मीद है. 

लॉन्च हुआ बीटा वर्जन

दिल्ली मेट्रो ने बुधवार को दिल्ली मेट्रो रेल क्यूआर कोड आधारित टिकटिंग सिस्टम का बीटा संस्करण लॉन्च किया.इससे दिल्ली मेट्रो के यात्री आईआरसीटीसी (IRCTC) के ऑफिशियल वेबसाइट और मोबाइल ऐप के एंड्रॉइड वर्जन के माध्यम से DMRC QR कोड टिकट बुक कर सकेंगे. आईआरसीटीसी के सीएमडी संजय कुमार जैन और डीएमआरसी के एमडी विकास कुमार ने कहा कि बीटा संस्करण के सफल लॉन्च के साथ हम आईआरसीटीसी-डीएमआरसी क्यूआर कोड टिकट के नियमित संस्करण के जल्द ही शुरू होने की उम्मीद कर रहे हैं.

4 दिनों के लिए वैध रहेगा टिकट

अभी तक दिल्ली मेट्रो के पैसेंजर्स अपने सिंगल जर्नी टिकट को उसी दिन खरीदते हैं, जिस दिन उन्हें सफर करना होता है और इस टिकट की वैलिडिटी भी सिर्फ एक दिन की होती है. इस नई पहल से दिल्ली मेट्रो की टिकट बुकिंग सिस्टम DMRC-IRCTC QR कोड आधारित टिकट भारतीय रेलवे की अग्रिम आरक्षण अवधि (ARP) के साथ सिंक्रनाइज हो जाएगी.

इससे यात्री 120 दिन पहले तक मेट्रो टिकट बुक कर सकेंगे.  यानी अब मेट्रो के यात्री भी रेलवे की तरह अपनी जर्नी के लिए टिकट बुक कर सकते हैं. ये टिकट 4 दिनों के लिए वैध होंगे. आप इस टिकट पर DMRC की ओर से निर्धारित यात्रा तिथि से एक दिन पहले से लेकर दो दिन बाद तक यात्रा कर सकत हैं. 

रद्द भी करा सकते हैं टिकट

इस पहल से रेलवे यात्री सीधे रेल टिकट कन्फर्मेशन पेज से दिल्ली मेट्रो टिकट बुक कर सकेंगे, चाहे वह दिल्ली/एनसीआर क्षेत्र में स्रोत स्टेशन हो या गंतव्य स्टेशन. इसके अतिरिक्त टिकट को बाद में बुकिंग हिस्ट्री पेज के माध्यम से बुक किया जा सकता है. इसमें लचीले रद्दीकरण विकल्प भी उपलब्ध है. खरीद के बाद प्रति यात्री एक डीएमआरसी क्यूआर कोड मुद्रित किया जाएगा या आईआरसीटीसी की इलेक्ट्रॉनिक आरक्षण पर्ची में उपलब्ध होगा.

इससे डीएमआरसी स्टेशनों पर कतार में लगने का समय काफी कम हो जाएगा. IRCTC, DMRC और CRIS की इस ऐतिहासिक पहल का उद्देश्य यात्रियों की यात्रा को मंगलमय बनाना है. टिकट बुकिंग आसान होने से यात्रियों की सुविधा बढ़ेगी. यह कदम डिजिटलीकरण और कुशल पर्यावरण के अनुकूल परिवहन प्रणालियों को बढ़ावा देता है, जो वास्तव में एक भारत-एक टिकट की भावना को दर्शाता है.

ये भी पढ़ें
 

2024-07-10T17:58:54Z dg43tfdfdgfd