BMW HIT & RUN CASE: कार मिहिर शाह चला रहा था या ड्राइवर राजऋषि, साफ हो गया

मंगलवार, 10 जुलाई को मुंबई के वर्ली हिट ऐंड रन केस (Worli Hit & Run Case) के मुख्य आरोपी मिहिर शाह को गिरफ़्तार कर लिया गया. मिहिर (Mihir Shah), एकनाथ शिंदे गुट के नेता राजेश शाह का बेटा है. ख़बर है कि आरोपी ने क़ुबूल कर लिया है कि जिस BMW की टक्कर से स्कूटर-सवार महिला की मौत हुई, उसे वही चला रहा था. उसने ये दावा भी किया है कि घटना के वक्त वो नशे में नहीं था. मुंबई की एक अदालत ने आरोपी को छह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

अब तक क्या-क्या हो चुका है?

रविवार, 7 जुलाई की सुबह वर्ली के कोलीवाड़ा में रहने वाले प्रदीप नखवा अपनी पत्नी कावेरी नखवा के साथ मछली लेने निकले थे. दोनों स्कूटर से थे. मछली लेकर वापस आ रहे थे कि एक BMW कार ने उन्हें पीछे से टक्कर मार दी. इस हादसे में 45 साल की कावेरी नखवा की मौत हो गई. प्रदीप को भी चोटें आईं.

घटना के बाद गाड़ी और उसके सवार फ़रार. मालूम हुआ कि गाड़ी में शिवसेना के एकनाथ शिंदे गुट के नेता राजेश शाह का बेटा मिहिर शाह मौजूद था. पुलिस ने मिहिर के पिता राजेश शाह और हादसे के दौरान कार में मिहिर के साथ मौजूद रहे ड्राइवर राजऋषि बिदावत को हिरासत में ले लिया. कोर्ट ने ड्राइवर की पुलिस हिरासत 11 जुलाई तक बढ़ा दी.

ये भी पढ़ें - आरोपी ने जहां पी शराब वहां चला बुलडोजर, अब विपक्ष ने क्या सवाल उठाए?

इधर पुलिस मिहिर शाह को खोजती रही. खोज के लिए 14 टीमें बनाई गईं. आख़िरश मंगलवार, 9 जुलाई को मिहिर को गिरफ़्तार कर लिया गया. मुंबई से 65 किलोमीटर दूर. पालघर के विरार के एक रिज़ॉर्ट से.

एनडीटीवी ने सूत्रों के हवाले से छापा है कि पूछताछ के दौरान आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने अपने ड्राइवर राजऋषि बिदावत के साथ सीट बदल ली थी और हादसे के वक़्त वही गाड़ी चला रहा था. कथित तौर पर चार दोस्तों के साथ जुहू के एक बार में घंटों पार्टी करने के बाद वो वापस घर जा रहा था. उसी दौरान उसने दंपती को टक्कर मारी.

पुलिस को CCTV फ़ुटेज से पता चला है कि टक्कर के बाद कावेरी डेढ़ किलोमीटर तक घसीटी गईं. फिर  BMW रुकी. आरोपी और ड्राइवर ने सीट बदली. महिला के शव को कार के नीचे से निकाला और उसे सड़क पर छोड़कर भाग गए थे.

हादसे की ख़बर और चर्चा में आने के बाद राजेश शाह को पार्टी से निकाल दिया गया. गिरफ़्तारी के बाद मिहिर को सेवरी कोर्ट में पेश किया गया था, जहां से उसे छह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. 

पीड़ित दंपती के दो बच्चे हैं. मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने परिवार के 10 लाख रुपये के मुआवजे का एलान किया है.

2024-07-10T11:54:05Z dg43tfdfdgfd