आरयू एनएनसीएफ को अविलंब करें ब्लैक लिस्ट

रांची (ब्यूरो) । रांची विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही को लेकर युवा आजसू के प्रतिनिधिमंडल ने युवा आजसू के अभिषेक शुक्ला के नेतृत्व में राजभवन सचिवालय में महामहिम राज्यपाल के नाम से मांग पत्र सौंपा. मांग पत्र सौंपते हुए युवा आजसू के अभिषेक शुक्ला ने कहा की रांची विश्वविद्यालय प्रशासन के लापरवाही के कारण 10,000 से अधिक छात्राओं के डिग्रियां अटकी पडी हंै. यह शर्मनाक स्थिति तब है जब छात्र-छात्राओं ने अपनी परीक्षाएं और अन्य आवश्यक प्रक्रियाएं पूरी कर ली हैं. विश्वविद्यालय का वित्त विभाग मात्र 12000 की खरीदारी करने में असमर्थ दिख रहा है जिसके चलते डिग्रियां तैयार नहीं हो पा रही हैं.

ज्वाइन नहीं कर पा रहे

छात्र-छात्राओं की बेवसी का आलम यह है के छात्रों की बैंक में नौकरी लग जाने के बाद भी डिग्री के बिना ज्वाइन भी नहीं कर पा रहे हैं रोजाना दर्जनों छात्र छात्राएं विश्वविद्यालय के चक्कर काटने के लिए विवश है लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है. उन्होंने कहा की दूसरी और रांची विश्वविद्यालय में स्नातक छठे सेमेस्टर के छात्रों के साथ भी भारी अन्याय हो रहा है. परीक्षा के 14 दिन बाद भी प्रश्न पत्र नहीं छपा जिसके कारण सैकड़ो परीक्षार्थी अपनी परीक्षा नहीं दे सके. पहले भी इस तरह की गड़बड़ी हो चुकी है. जब इकोनॉमिक्स इलेक्टिव की जगह इकोनॉमिक्स मैथमेटिक्स का प्रश्न दे दिया गया था. छात्रों के महीना चल सपनों के साथ हो रहा है. यह खिलवाड़ बेहद निंदनीय है. परीक्षार्थियों के परीक्षा केंद्र पर पहुंचने की आधे घंटे बाद पता चलता है कि प्रश्न पत्र छपा ही नहीं परीक्षा के दौरान मॉडरेशन में भी किसी ने इस गड़बड़ी को नहीं पकड़ा जिससे परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को भारी निराशा का सामना करना पड़ा. प्रतिनिधिमंडल में रोहित चौधरी, प्रियांशु शर्मा मनजीत साहू, आका शनयन, विशाल कुमार यादव सुमित कुमार के अलावा अन्य सदस्य मौजूद थे.

2024-07-10T17:41:43Z dg43tfdfdgfd